घोल या विलयन (solution)

विलयन या घोल (Solution )

Chemistry

 

विलयन या घोल (Solution )

दो या दो से अधिक पदार्थों के मिलने से बनता है । उसे विलयन कहते है ।

विलयन में एक पदार्थ की मात्रा कम और दूसरे की मात्रा अधिक होती है

 

विलयन विलेय (कम मात्रा ) और विलायक (अधिक मात्रा ) का सम्मिलित रूप है ।

 

विलेय (Solute) ::. वैसा पदार्थ जो किसी अन्य पदार्थ में घुलने का कम करता है उसे विलेय कहा जाता है । जैसे नमक , चीनी ।

विलायक (Solvent) ::. वैसा पदार्थ जो किसी दूसरे पदार्थ को अपने मे घुला लेता है , उसे विलायक कहा जाता है जैसे – पानी और चीनी के विलयन में पानी विलायक और चीनी विलेय है ।

 

पानी को सार्वत्रिक विलायक (यूनिवर्सल सॉल्वेंट ) कहा जाता है ।

तापमान के बढ़ने से ठोस पदार्थ की विलयन बढ़ जाती है लेकिन गैसें की विलेयता घट जाती है ।

Isotonic कहा जाता है जब दो विलयन का परासरण दाब (Osmotic Pressure ) समान होता है ।

विलेय की मात्रा के आधार पर विलयन के प्रकार

मात्रा के आधार पर विलयन तीन प्रकार का होता है ।

संतृप्त विलयन (Saturated Solution )
असंतृप्त विलयन (Un- Saturated Solution )
अतिसंतृप्त विलयन (Super Saturated solution )

संतृप्त विलयन (Saturated Solution )

वैसा विलयन जिसमें विलेय पदार्थ की मात्रा आवश्यकतानुसार घुली हो ।

असंतृप्त विलयन (Un-Saturated Solution )

वैसा विलयन जिसमें पदार्थ की मात्रा आवश्यकता से कम घुली हो उसे असंतृप्त विलयन कहा जाता है ।

अतिसंतृप्त विलयन (super saturated Solution )

वैसा विलयन जिसमें विलेय पदार्थ की मात्रा आवश्यकता से बहुत अधिक घुली हो एंव उससे अधिक उस तापमान पर नही घुलाया जा सकता है ।

घुलने के आधार पर विलयन के प्रकार :

घुलने के आधार पर विलयन दो प्रकार का होता है ।
समांग विलयन (Homogeneous Solution )
विषमांग विलयन (Heterogeneous Solution )

समांग विलयन (Homogeneous Solution )

वैसा विलयन जिसमें विलेय पदार्थ एक दूसरे में शत प्रतिशत घुला हो ।
जैसे – पानी मे चीनी का विलयन, पानी में दूध का विलयन, पानी मे नमक का विलयन ।

विषमांग विलयन (Heterogeneous Solution )

वैसा विलयन जिसमें विलेय पदार्थ एक दूसरे में शत प्रतिशत नहीं घुला रहता है ।
जैसे नदी का गंदा पानी , वायुमंडल में धूलकण

विषमांग विलयन दो प्रकार का होता है ।

निलंब (Suspension )
कोलाईड. (Colloid )

निलंब (Suspension )

वैसा विषमांग विलयन है , जिसमें विलेय के कणों की त्रिज्या 10^-5 cm से बड़ा हो । जैसे नदी का गंदा पानी , वायुमंडल में धूलकण , वायुमंडल में धुंआ ।

कोलाईड (Colloid )

वैसा विषमांग विलयन है , जिसमें विलेय के कणों की त्रिज्या 10^-5 से 10^-7 cm तक हो तो उसे कोलॉइड कहा जाता है । जैसे – दूध, पनीर, शहद , सेंट , पेंट , क्रीम ।

कोलाईड विलयन दो प्रकार का होता है ।

1. पायस (Emulsion ). 2. जेल( Gell)

पायस
द्रव में द्रव का विलयन है । जैसे दूध , इत्र , पेंट।

जेल
ठोस में द्रव का विलयन है । जैसे पनीर, शहद, face wash , शैम्पू , cream ।

कोलाईड के लक्षण ::.

कोलाईड। समांगी दिखाई देता है परंतु वास्तव में यह विषमांगी होता है ।
कोलाईड से गुजरते हुए प्रकाश किरण पुंज का प्रकीर्णन (क्षण ) हो जाता है ।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.