HomeB.Ed Courseसमूह निर्देश की गतिविधियाँ , परिभाषा , उद्देश्य ,आवश्यकता एवं महत्व ,...

समूह निर्देश की गतिविधियाँ , परिभाषा , उद्देश्य ,आवश्यकता एवं महत्व , लाभ

समूह निर्देश की गतिविधियाँ

समूह निर्देश( Group Guidance ) :- समूह में प्रदान करने वाले निर्देशन को या समूह विशेष के लिए निर्देशन प्रदान करने की प्रक्रिया को समूह निर्देशन कहते है ।

समूह निर्देशन से अभिप्राय :- उस सेवा से है , जो छोटे या बड़े समूहों को उनकी सामान्य समास्याओं के सामाधान दी जाती है ।

परिभाषा :- प्रो० श्री कृष्णा दुबे के अनुसार :- समूह निर्देशन सामुहिक रूप से प्रदान की जानेवाली वह सहायता है , जो छात्रों को निर्णयों के निश्चय करने दायित्वों का निर्वाहन करने तथा समायोजन करने के लिए प्रदान की जाती है । ”

समूह निर्देशन के उद्देश्य ( Aims of Group Guidance ) :-

  1. सामाजिक कुशलता का विकास करना
  2. अधिक से अधिक आत्मा निर्देशन उच्चकोटि की समस्या के समाधान हेतु निर्णय लेने की क्षमता का विकास करना ।
  3. समूह में प्रत्येक सदस्य को स्वंयम को जानने तथा समझने में सहायता करना
  4. सामान्य समस्याओं को ज्ञात करना
  5. अधिकांश छात्रों के साथ परामर्शदाता का संपर्क
  6. छात्रों की चिंताओं तथा तनाव में कमी लाना

समूह निर्देशन की आवश्यकता तथा महत्व

  1. छात्रों के उनके हस्ती कौन दृष्टिकोण तथा व्यवहार में सुधार लाने में मदद करना
  2. छात्रों को आपसी विचारों के आदान-प्रदान में सहायता देने की दृष्टि से भी समूह निर्देशन आवश्यक है ।
  3. समूह निर्देशन प्रणाली से विद्यार्थी अपनी समस्याओं को सामूहिक रूप से विश्लेषण करने उन्हें समझने एवं मूल्यांकन करने की योग्यताओं को विकसित कर लेते हैं ।
  4. समूह निर्देशन के द्वारा जरूरी सूचनाओं तथा निर्देशन की सूचनाओं को कम समय में अधिक छात्रों तक पहुंचाया जा सकता है ।
  5. समूह निर्देशन के माध्यम से छात्रों की अपनी अज्ञानता आवश्यकता तथा समस्याओं को जान लेते हैं जिससे वैकल्पिक परामर्श का कार्य बहुत ही सहज बन जाता है
  6. सामूहिक निर्देशन अधिक से अधिक विद्यार्थियों से संपर्क स्थापित करने की दृष्टि से भी अधिक महत्वपूर्ण है । इस स्थिति में परामर्श का अधिक से अधिक छात्रों से एक साथ मिल सकते हैं तथा कठिनाइयों को जान सकते हैं ।

सामूहिक निर्देशन से लाभ

  • समय की बचत करने के लिए एक ही विषय पर कई लोगों को एक साथ बैठाकर निर्देशन करना
  • छात्रों को विषय के चुनाव करने में मदद करने के लिए समूह निर्देशन के माध्यम से मार्गदर्शन दिया जा सकता है ।
  • आत्मविश्वास में वृद्धि होती है।
  • समूह चर्चा का अनौपचारिक तथा मुक्त वातावरण की निरीक्षण किया जा सकता है।
  • सन्तुलित एवं प्रभावी निर्णय योग्यता का विकास ।

सामूहिक निर्देशन के गतिविधियां

अभीविन्यास कार्यक्रम ( Orientation Programmes ) :- उन बालकों को जिन्होंने पहली बार स्कूल में प्रवेश लिया है । उन्हें स्कूल के भौतिक एवं मानवीय संसाधनों के बारे में स्कूल में संचालित विभिन्न गतिविधियों के बारे में मार्गदर्शन करना बहुत आवश्यक होता है। इन सभी बातों की जानकारी देने के लिए विद्यालय द्वारा अभिविन्यास कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।

स्कूल के इतिहास पंरपराओं नियमों एवं सुविधाओं तथा कमियों से परिचित होने में यह सहायक होता है। तथा स्कूल के प्रधानाचार्य अध्यापकों तथा अन्य संबंधित कर्मचारियों से परिचित होने का अवसर मिलता है ।

इसके अलावा अन्य प्रकार के लाभ इस मार्गदर्शन सेवा से प्राप्त हो सकते है, जो इस प्रकार है।

#1 बालकों के सामाजिक समायोजन आसानी से तथा बेहतर तरीके से हो जाता है। बालक यह जान पाता है कि किन कक्षाओं में किस विषयों का अध्ययन होता है । पुस्तकालय , खेल का मैदान , प्रयोगशाला आदि कहा स्थित है ।

स्कूल में नए सत्र की शुरुआत के साथ ही अभिविन्यास दिवस मनाये जाने चाहिए । सत्र के शुरू के दिनों में किसी दिन सभी छात्रों को एक जगह एकत्रित किया जाए तथा प्रचानाचार्य एवं शिक्षकों से उन्हें और स्कूल के इतिहास नियम कार्यक्रमों से अवगत कराया जा सकता है यह कार्यक्रम 3 से 4 दिन या जरूरत पड़ने पर सप्ताह भर इस प्रकार नियोजित करके चलाया जा सकता है , की नव प्रवेश ई बालकों को सभी प्रकार की जानकारी और स्कूल से संबंधित उसे मिल सके ।

स्वागत समारोह का आयोजन पुराने छात्रों की सहायता से कराकर ने बालकों को पुराने छात्रों से स्कूल के शिक्षकों तथा कर्मचारियों से भलीभांति परिचित कराया जा सकता है इस अवसर पर ने बालक विभिन्न संस्कृति एवं अन्य कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी क्षमता तथा योगिता का प्रदर्शन भी कर सकते हैं इस कार्यक्रम में माता-पिता को भी बुलाया जा सकता है

कक्षा वार्ता (Class Talks )

छात्रों तथा शिक्षक के बीच बातचीत :- जो शिक्षक हैं वह छात्रों को एक सामान्य विषय पर बातचीत करने के लिए निर्देशन देता है कक्षा में बातचीत करने के छात्रों को सीखने में मदद मिलती है वह जो सीख रहे हैं उस पर चिंतन करते हैं , तथा अपने ज्ञान और समझ को दूसरे छात्रों तक पहुंचाते हैं इसमें सभी छात्र सक्रिय रूप से भागीदार रहते हैं यह एक ऐसी गतिविधि है जो वक्ता को समझने में मदद करती हैं या एक समूह मार्ग निर्देशन प्रदान करने में एक प्रभावी तरीका है । क्योंकि छात्रों को इसमें अपने बातों को रखने का मौका मिलता है ।

व्यवसाय / कैरियर वार्ता ( Carrer Talks )

व्यवसाय वार्ता एक उद्योग के भीतर भी व्यवसाय ओ के बारे में जानकारी प्रदान करती है । वह छात्रों को किए गए कार्यों को प्रकृति तथा दायरे से परिचित कराते हैं । तथा उन्हें कुछ कार्यों को करने के लिए आवश्यक कौशल प्रशिक्षित करते हैं । स्थानीय कारोबारी नेता अपने अनूठे अनुभव के बारे में बात करने के लिए स्कूल मैं आते हैं

वे छात्रों को उनके भविष्य के बारे में सूचित करते हैं सही व्यवसाय निर्णय के लिए लेने के लिए प्रेरित करते हैं तथा उनको सुझाव देते हैं और उनका मार्गदर्शन करते हैं । उनसे एक कारोबारी नेता कुछ समय के लिए बोलता है तथा उसके बाद एक प्रश्न उत्तर सत्र प्रारंभ होता है जहां छात्र विभिन्न प्रकार के प्रश्न पूछने में सक्षम होते है ।

वक्ता अपने व्यवसाय मार्ग के बारे में कहानी के रूप में भी नहीं अपने अनुभवों से अवगत कराता है तथा उन्हें भी बताता है कि यह व्यवसाय सुनने के लिए उन्हें प्रेरणा कहां से मिली वह अपनी सफलता तथा और सफलता के साथ उनकी कंपनी क्या करती है तथा वह क्यों महत्वपूर्ण है इसके बारे में भी बताते हैं ।

कैरियर वार्ता में स्कूल के द्वारा एक प्रशिक्षित व्यक्ति को बुलाया जाता है जैसे व्यवसाय परामर्शदाता को बुलाते हैं तथा व्यवसाय वार्ता का आयोजन करते हैं वह व्यवसाय से संबंधित जानकारी देता है । परामर्शदाता यह बताता है कि किस व्यवसाय में कितने अच्छे मौके भविष्य में उपलब्ध होंगे इस व्यवसाय के चुनाव सेल छात्रों को लाभ होगा । व्यवसाय से संबंधित सभी जानकारी वह छात्रों तथा उपलब्ध कराता है । जैसे छात्र अपने भविष्य में किस व्यवसाय का चुनाव करें तथा इसकी क्या उपयोगिता है । इसके बारे में आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।

समूह चर्चा ( Group Discussion )

समूह परिचर्चा विचारों का आदान प्रदान का मौलिक स्वरूप है । किसी विषय से संबंधित अपने अपने विचारों का परस्पर आदान-प्रदान करते हैं । समूह चर्चा एक आधुनिक विधि है जिसमें एक वह अधिक स्तर के छात्र एक साथ बैठकर अध्ययन करते हैं । अपनी कमजोरियों तथा संतो को अपने साथी द्वारा हल करने का प्रयास करते है ।

समूह निर्देश की परिभाषा

हरबर्ट गुली के अनुसार :- परिचर्चा उस समय होती है जब व्यक्तियों का एक समूह आमने-सामने की स्थिति में एकत्रित होकर मौखिक अंतः क्रिया द्वारा सूचनाओं का आदान-प्रदान करते हैं । या किसी सामूहिक समस्या पर कोई निर्णय लेते हैं ।

समूह निर्देश की गतिविधियाँ की विशेषताएँ

  • विचारों का आदान-प्रदान समूह के व्यक्ति आमने-सामने बैठकर अपने अपने विचारों को मौखिक रूप से व्यक्त करते हैं अन्य व्यक्ति उन विचारों पर अपनी प्रतिक्रिया प्रकट करते हैं उन्हें अपने विचारों को व्यक्त करने का अवसर दिया जाता है ।
  • उद्देश्य पूर्ण चर्चा परिचर्चा से सदैव उद्देश्य पूर्ण होती है तथा उद्देश्य समूह के सभी व्यक्तियों को अस्पष्ट होता है । परिचर्चा या तो किसी समस्या या किसी निर्णय लेने से संबंधित होती है ।
  • परिचर्चा का क्रमबद्ध विकास परिचर्चा में चल रही विचार-विमर्श की प्रक्रिया का क्रमबद्ध रूप से विकास होता है ।
  • नेता की उपस्थिति :- परिचर्चा में नेतृत्व प्रदान करने की उपस्थिति आवश्यक है नेतृत्व के अभाव में परिचर्चा में भटकाव पैदा हो सकता है ।

समूह निर्देश की गतिविधियाँ का लाभ

शिक्षण तथा निर्देशन दोनों ही क्षेत्रों में परिचर्चा प्रविधि का महत्वपूर्ण स्थान है इस प्रविधि के कुछ लाभ हैं ।

सही निर्णय संभव ( Right decision Possible )

परिचर्चा के माध्यम से पाठ्यक्रम निर्माण छात्रों की समस्या शर्मीले छात्रों के बारे में कुछ उपयोगी तथा सही निर्णय लिए जा सकते हैं ।

श्रम विभाजन संभव ( Possible. Division of labor develop )

परिचर्चा में शामिल सदस्यों को छोटे समूहों में विभक्त कर के प्रत्येक समूह के समस्या का एक एक भाग बांट दिए जाए , तो प्रत्येक समूह उस पर चर्चा करके निर्णय पर पहुंचेगा । ऐसा करके श्रम विभाजन का लाभ प्राप्त होगा ।

सामाजिकता का विकास ( Development of Sociality )

परिचर्चा में होने वाली अंतः क्रिया के कारण छात्रों में समाजिक सामाजिकता का विकास होता है जिससे छात्रों का व्यवहार परिमार्जित होकर उनके आचार विचारों में परिवर्तन होता है ।

व्यक्तित्व का विकास ( Development of Personality )

परिचर्चा में भाग लेने से छात्र वार्तालाप का ढंग से हैं तथा समस्या समाधान तथा तर्क शक्ति का विकास तथ्यों का विश्लेषण कर निर्णय तक पहुंचने की क्षमता का विकास होता है

समय की बचत ( Saving time )

समूह परिचर्चा द्वारा निर्देशन संबंधी कार्य करने में समय की बचत होती है ।

अन्य पढ़े

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments